Fatera से अच्छा रिजल्ट देने वाला दानेदार [Virtako, Barroz, Asataf, Regent] | Systemic Insecticide Uses Hindi Technical

0
361
Systemic Insecticide Uses Hindi Technical

Systemic Insecticide Uses Hindi List Virtako Barroz Asataf example definition meaning best good agriculture price, Tata Syngenta Cover Dhaathri Adama Regent Bayer Ultra, dupont Fmc Fatera, फटेरा कीटनाशक दवा technical name kitnashak pesticide fertilizer 1kg 4 kg 5kg Granules per acre बरोज gr nagata रीजेंट furadan ultra karate

फटेरा आज के समय में ज्यादातर किसान अपने खेतों में Systemic Insecticide के रूप में उपयोग करते हैं ।

जो पौधों को लंबे समय तक पत्ता लपेट, पत्तियों को खाने वाले कीड़े, इल्ली, तना छेदक, व्हाइटफ्लाई और थोड़ा बहुत मिलीबग का फसलों के पूरे जीवन काल में रक्षा करता है।

जो दानेदार (Granules) फॉर्म में बाजार में उपलब्ध होता है जिसको 4KG per acre के हिसाब से डालना होता है।  

लेकिन किसान साथियों लगातार कई वर्षों तक एक ही दवाई के Upyog से कई बार मिट्टी दवाई के प्रति रजिस्टेंस हो जाता है।

जिससे दो-तीन वर्षों के बाद एक ही प्रकार की कीटनाशक दवाई वही मिट्टी में अच्छी तरह से काम भी नहीं कर पाती फिर हमें लगता है कि यह दवाई अच्छा नहीं है वह दवाई अच्छा नहीं है इसलिए हर company की kitnashak दवा अलग-अलग नामों से बाजार मे बिकती है।

तो हम Ferterra के जगह उपयोग होने वाले कीटनाशक दवा के बारे में चर्चा करेंगे कि कौन कौन सी company Systemic Insecticide बनाती है और इसके क्या फायदे हैं।

What Is Systemic Insecticide (Definition, Meaning)

सिस्टमिक इंसेंटिसाइड फसलों में उपयोग होने वाली सबसे प्रभावी कीटनाशक में से एक है जिसका उपयोग करने से इसका प्रभाव पौधों पर लंबे समय तक देखने को मिलता है।

और अभी हम Dupont Fmc Fatera की बात कर रहे हैं तो फटेरा Granules फॉर्म में आता है और इसकी जगह बहुत से kitnashak dawa भी आता है वह भी अलग-अलग नामों से ग्रेन्यूल्स फॉर्म में ही देखने को मिलता है।

सिस्टमिक इंसेंटिसाइड का मतलब यह होता है कि यह पौधों के सिस्टम में जाकर वर्क करता है तो अगर इस दवा का असर फसल पर होता है तो कोई भी कीड़ा या इंसेक्ट इस फसल को खाएगा या चूसने की कोशिश करेगा तो वह मर जाता है।

फटेरा की जगह विभिन्न कीटनाशक दवा (Systemic Insecticide Uses In Hindi)

Tata Asataf Systemic Insecticide

टाटा कंपनी द्वारा निर्मित Asataf का Upyog भी किसान फर्टेरा की जगह कर सकते हैं जिससे फसलों को लंबे समय तक कीड़ों से बचा कर रखा जा सकता है।

इसका Technical Name – Acephate 75% SP है।

Virtako Syngenta  

Syngenta company Virtako जोकि एकड़ में 2.5KG लगता है और इसकी पैकिंग 5kg की आती है मतलब 2 एकड़ के हिसाब से इसकी पैकिंग आती है इसका काम भी वही है जो Ferterra की तरह होता है यह भी ग्रेन्यूल्स फॉर्म में आता है और इसका टेक्निकल थोड़ा अलग होता है।

तकनीकी नाम Thaimethoxam 1.0% w/w+ Chlo 0.5% w/w GR

Dhanuka Cover Insecticide

Dhanuka Agritech company द्वारा निर्मित Cover Insecticide का भी Uses हम dupont Fatera Fmc की जगह कर सकते हैं।

इसका भी काम पौधों के सिस्टम में जाकर वर्क करना है और पौधों को कीड़ों, इललियों से बचा कर रखना है इसका तकनीकी नाम भी वही है जो फर्टेरा में होता है

Technical Name – Chlorantraniliprole 0.4 % GR

Dhaathri Systemic Insecticide

फर्टेरा की जगह आजकल कई किसान धात्री का उपयोग कर रहे हैं यह Ferterra के जैसा ही होता है और इसका वर्क भी वही है और इसको shanmukha agritec नामक कंपनी बनाती है।

रीजेंट अल्ट्रा बायर Regent Bayer Ultra

मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश साइड ज्यादातर किसान Fatera की जगह बायर कंपनी की Regent Bayer Ultra use करते हैं । यह फटेरा से थोड़ी सी सस्ती पड़ती है और इसका काम भी वही है।

इसका तकनीकी नाम – Fipronil 0.6 GR है।

बरोज कीटनाशक (Barroz Adama Systemic Insecticide)

रोज का उपयोग भी आप Ferterra की जगह कर सकते हैं यह भी एक सिस्टमिक इंसेंटिसाइड है लेकिन इसका technical name थोड़ा सा अलग होता है ।

लेकिन काम वही होता है और यह फटेरा से थोड़ा महंगा भी आता है इसका

तकनीकी नाम Hydrochloride 7.5 % W/W + Emamectin Benzoate 0.25% W/W GR है।

Cosko Insecticide Uses In Hindi

फटेरा का Same Technical जिसमें दवाई और वजन मे 1% का भी अंतर नहीं है जो पी आई कंपनी द्वारा निर्मित की जाती है और बाजार में Cosko Insecticide नाम से उपलब्ध होता है जो Fatera से 40 से ₹50 सस्ता पड़ता है तो हम इसका उपयोग कर सकते हैं।

Technical Name – Chlorantraniliprole 0.4 % GR

Diesel Insecticide Gharda (घरडा केमिकल)

आज के समय में कई किसान घरडा कंपनी द्वारा बनाई जाने वाली Diesel Insecticide का upyog कर रहे हैं जिसकी Technical रीजेंट अल्ट्रा बायर वाला होता है इसका रिजल्ट कई किसान अच्छा बता रहे हैं और इसकी लगातार मार्केट में डिमांड भी बढ़ती जा रही है।

इसका असर भी लंबे समय 25 दिनों तक फसलों में रहता है।

तकनीकी नाम – Fipronil 0.6 GR

दवाई काम क्यों नहीं करता (kitnashak)

आजकल कई किसानों का कहना है कि आजकल दवाई खेत में डालने पर वह काम नहीं करती या उसका dose हर साल बढ़ता जाता है।

तो फटेरा के केस में भी यही होता है बार-बार खेतों में फटेरा के उपयोग से मिट्टी उस दवाई के प्रति रजिस्टेंस हो जाती है।

जिसके कारण उस मिट्टी में kitnashak dawa का असर खत्म हो जाता है या फिर इसका Dosage 2 गुना से 3 गुना हो जाता है इसी कारण कई जगह फटेरा काम नहीं करता।

कीटनाशक दवा का उपयोग (Systemic Insecticide Uses In Hindi)

Ferterra या कोई भी Systemic Insecticide का उपयोग विधिवत करना बहुत जरूरी है तभी इसका सही परिणाम मिल पाता है।

तो अगर हमें दानेदार सिस्टेमिक इंसेक्टिसाइड का use करना है तो सबसे अच्छा समय फसल रोपाई के 20 से 40 दिन तक होता है।

जिसको हम अकेले दानेदार दवाई का छिड़काव कर सकते हैं या फिर यूरिया में मिक्स करके भी हम इसको पूरी फसलों में उपयोग कर सकते हैं.

और याद रहे हमें ऐसे छिड़काव करना है कि यह पौधों की जड़ों तक पहुंचे तभी यह पौधों के सिस्टम में जाकर कार्य करना चालू करेगा।

किन किन पौधों में उपयोग (Upyog)

Systemic Insecticide का uses विभिन्न प्रकार के फसलों में कर सकते हैं लेकिन सबसे अच्छा रिजल्ट हमको धान की फसलों में देखने को मिलता है इसके अलावा और भी फसल है जिसमें हम इसका उपयोग कर सकते हैं। जैसे- मक्का, सोयाबीन, गेहूं, ज्वार, बाजरा, गन्ने मे और हल्दी।

कीटनाशक के फायदे (Fayde, Benefits)

अगर हम पौधों में सिस्टमिक इंसेंटिसाइड का Upyog करते हैं तो हमको बहुत सारे Fayde, Benefits इनके देखने को मिलते हैं ।

क्योंकि हमें कोई भी फसल में बीमारी की रोकथाम करनी है तो समय-समय पर नियमित रूप से दवाई को प्रयोग करना ही पड़ता है।

तो ऐसे में अगर हम पहले से ही फर्टेरा या फिर अलग तरह के Systemic Insecticide का उपयोग करते हैं तो यह पौधों को लंबे समय तक कीड़ों से बचा कर रखता है ।

और फसलों में कीड़ों से बचत हो जाती है और हमें बार-बार अलग-अलग बीमारी के लिए कीटनाशक दवा का उपयोग भी कम करना पड़ता है।

कीटनाशक के नुकसान (kitnashak Nuksan)

कोई भी kitnashak हो अगर हम फसलों में लगातार उपयोग करते हैं तो इससे हमारी खेत की उर्वरा शक्ति क्षीण होने लगती है।

और आगे चलकर फसल के उत्पादन में भी प्रभाव देखने को मिलता है और हमने पहले ही बता बता दिया है कि लगातार इंसेक्टिसाइड के उपयोग से मिट्टी उस दवाई के प्रति रजिस्टेंस बना लेती है ।

जिससे pesticide का असर फसलों पर दिखाई नहीं देता जिससे पैसा भी नुकसान और उर्वरा शक्ति भी कम हो जाती है या फिर हमें ज्यादा दवाई डालना पड़ता है।

हम कौन सी खरीदे

बाजार में फसलों की एक बीमारी के लिए हजारों दवाई उपलब्ध है और दवाई का असर भी अलग-अलग मिट्टी के हिसाब से अलग-अलग देखने को मिलती है।

तो हम आपको एकदम परफेक्ट नहीं बता सकते थे आपको कौन सी दवाई लेनी है यह आपको तय करना है की आपको अपने खेत में कौन सी दवाई डालना है।

तो हमने फटेरा के जगह उपयोग में होने वाले बहुत से Systemic Insecticide के बारे में बता दिए हैं तो आपको जो पसंद आता है वह आप अपने फसल में डाल सकते हैं ।

और अपना अनुभव शेयर कर सकते हैं क्योंकि अगर आपने दवाई का उपयोग किया है तो आपको उस दवाई का अनुभव हो जाएगा जिससे अगले साल के लिए काम आएगा।

तो किसान वीरो कैसी लगी हमारी द्वारा दी गई जानकारी Systemic insecticide uses in hindi कि हम फटेरा की जगह और कौन-कौन से Insecticide का उपयोग कर सकते हैं अगर आपको जानकारी पसंद आई है तो यह जानकारी अगले किसान वीरों के साथ व्हाट्सएप में फेसबुक में जरूर शेयर करे।

आपका प्रेम पूर्वक धन्यवाद,

Other Post

Product Buy On Amazon

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here