भारत की 3 Sabse Jyada Dudh Dene Wali Bhains

0
335
भारत की Sabse Jyada Dudh Dene Wali Bhains

 भारत में पशुओं की बहुत सारी ब्रीड देखने को मिलती है जिसमें कुछ ऐसे भी होते हैं जिनका दूध प्रोडक्शन दूसरे पशुओं से काफी ज्यादा होता है ।

और आजकल देसी पशुओं मे जर्सी ब्रीड के पशुओं से कम दूध प्रोडक्शन होता है तो ऐसे में किसान आजकल जर्सी नस्ल के पशुओं को पालने लगे हैं इसमें मुर्रा नस्ल, जफराबादी, नीली रावी भैंस, मराठवाड़ा, नागपुरी ऐसे बहुत सारे पशु आते हैं जिसमें दूध प्रोडक्शन अच्छा देखने को मिलता है और लंबे समय तक दूध प्रोडक्शन करता है।

भारत मे अलग-अलग राज्यो मे बहुत सारे नस्ल देखने को मिलता है जिसकी कुछ पहचान होती है जिसके जरिये कोई भी व्यक्ति इसके नस्ल को पहचान सकते है।

अभी हम भारत के Sabse Jyada Dudh Dene Wali Bhains के 3 नसलों के बारे में बताने का प्रयास करेंगे ।

मुर्रा नस्ल की भैंस (Murra bhains)

भारत की सबसे ज्यादा प्रचलित मुर्रा नस्ल की भैंस हरियाणा और दिल्ली साइड में देखने को मिलता है जो अन्य देसी नस्लों से अधिक दूध प्रोडक्शन करती है और यह लगभग 300 दिन तक दूध देती रहती है। मतलब कहा जाए तो एक बार बच्चा जन्म देने के बाद 300 दिन तक लगातार दूध production करेगी।

Murra bhains की पहचान इसके सिंग मुड़े हुए होते हैं और यह गहरे काले रंग के दिखाई देते हैं। जिसके जरिये आप मुर्रा भैंस को पहचान सकते है।

नीली रावी भैंस (Nili ravi buffalo)

इसके बाद हम दूसरे नंबर पर दूध प्रोडक्शन में नीली रावी भैंस को रखे है जो काफी ज्यादा प्रचलित है और यह सबसे ज्यादा पंजाब साइड में देखने को मिलता है यह भी बच्चा जन्म के बाद लगभग 300 दिन तक लगातार दूध देती है।

पंजाब और हरयाणा मे लगने वाले पशु किसान मेले मे Nili ravi नस्ल की भैंस काफी ज्यादा भाग लेती है और हर बार champion भी बनती है। इसी कारण यह नस्ल काफी ज्यादा प्रसिद्ध है।

Nili ravi buffalo की पहचान इसके बड़े-बड़े सींग होते हैं जोकि मुड़े हुए रहते हैं और यह भी गहरे काले रंग की होती है जिसके माथे पर सफेद दाग दिखाई पड़ते हैं।

जफराबादी भैंस

इसके बाद भारत Sabse Jyada Dudh Dene Wali Bhains मे हमने जाफराबादी नस्ल को रखे है  इस नस्ल की भैंस भी लंबे समय तक और दूसरे नस्लों से अच्छी दूध प्रोडक्शन करती है जो कि लगभग 290 दिन तक लगातार दूध देती है।

इस भैंस पहचान यह है कि यह भैंस लंबी गर्दन वाली होती है जिसके सिर बड़े और भारी होते हैं यह मध्यम लंबाई की भैंस है। यह दूसरे bhains से लंबाई मे छोटे होते है।

इसके अलावा भारत के और प्रसिद्ध भैंस मराठावाड़ा-मध्यप्रदेश, मेहसाना नस्ल – गुजरात, नागपुरी नस्ल- नागपुर,  पंढरपुरी- महारास्त्र, भदावारी- मध्यप्रदेश मे पाये जाते है जो की लगभग सालभर लगातार दूध देती है जिससे लंबे समय तक मुनाफा कमाया जा सकता है।

तो किसान वीरो आपके पास कौन सी नस्ल की भैंस है जिससे आप दूध प्रोडक्शन करते हैं और कितने वर्षो तक अपने फायदे उठाए है हमें कमेंट में जरूर बताएं ।

आपका प्रेमपूर्वक धन्यवाद,

Other Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here