DuPont Pexalon माहू BPH के लिए सबसे असरदार कीटनाशक | Dupont Pexalon Insecticide Uses Hindi Bph Price

0
136
Dupont Pexalon Insecticide Uses Hindi Bph Price

Dupont Pexalon Insecticide Uses Hindi Bph Price पेक्सालोन कीटनाशक triflumezopyrim 10 sc technical name कीमत galileo dose per acre तकनीकी नाम खुराक प्रति एकड़, corteva chess kitnashak पेक्सलॉन प्राइस 1 लीटर डुपोंट पैक्सलों उपयोग करता है dosage formula, 1 litre940ml 250ml

आजकल धान की फसलों में माहू कीट का प्रकोप काफी ज्यादा देखने को मिल रहा है और यह एक ऐसी बीमारी है जो धान की 1 पौधे में लगने के बाद धीरे-धीरे पूरे फसलों में फैल जाता है।

क्योंकि माहू एक कीड़ा होता है जो उड़ने वाला होता है और यह रात के समय काफी ज्यादा एक्टिव हो जाते हैं और धीरे-धीरे करके पूरी फसल में फैल जाता है।

तो brown plant hopper के लिए आज के समय में सबसे ज्यादा असरदार दवाई Corteva Agriscience कंपनी द्वारा निर्मित पेक्सलॉन है। जिसका technical nametriflumezopyrim 10 sc है।

जो अगर हम Dhan की बाली लगते समय फसलों में छिड़काव कर देते हैं तो यह आखरी समय तक फसलों को माहू कीट से बचा कर रखता है इसके अलावा मार्केट में और भी बहुत सारे दवाई उपलब्ध है जिसके जरिए mahu को कंट्रोल किया जा सकता है।

माहू कीट कब लगती है

brown plant hopper की बीमारी धान की फसल में फसल लगने के 60 से 70 दिन बाद देखने को मिलता है ।

क्योंकि यह समय धान के फल लगने का समय होता है और जैसे ही धान में फल लग जाता है उसके बाद माहू कीट का प्रकोप दिखाई देने लगता है।

और इसी समय मकड़ी की भी समस्या देखने को मिलती है तो यह ऐसा समय है जिसमें किसानों को चौकन्ना रहना पड़ता है और समय-समय पर फसलों की निगरानी भी करनी पड़ती है तभी फसल अच्छे से तैयार होता है नहीं तो अगर फसलों मे बीमारी लग जाती है तो फसल पूरी तरह से चौपट हो सकता है।

Corteva Agriscience द्वारा निर्मित Dupont Pexalon

कोरटेवा एग्रीसाइंस द्वारा निर्मित Dupont Pexalon अभी के समय में काफी ज्यादा असरदार माहू की दवा बताई जा रही है

पेक्सालोन कीटनाशक Pyraxalt द्वारा निर्मित किया गया है जो फसलों में एक बार छिड़काव कर देने के बाद पूरा फसल लगने तक फसलों को mahu kit से बचा कर रखता है।

फसलों मे आखरी समय तक Brown Plant Hopper (BPH) बीमारी होने नहीं देता और इसका उपयोग बहुत से किसान करने लगे हैं ।

क्योंकि अगर इसका छिड़काव सिर्फ एक बार कर देते हैं तो किसान चिंता मुक्त हो जाते हैं, Dupont Pexalon की dosage per acre 94ml होती है।

Dupont Pexalon मार्केट में 1 एकड़ 94ml, ढाई एकड़ 235ml,  5 Acre 470ml,  10 acre 940ml के पैक में मार्केट में उपलब्ध है और सभी माहू कीट नियंत्रण दवाई की कीमत सामान्य दवाई से ज्यादा भी होती है।

Dupont Pexalon Technical Name Triflumezopyrim 10 Sc

Dupont Pexalon Mode Of Action

Pexalon Corteva Agriscience द्वारा निर्मित प्रोडक्ट है जो माहू कीट की रोकथाम के लिए सबसे असरदार दवाई में से एक है जिसका मॉड आफ एक्शन माहू के कीड़े की रोकथाम करना।

और अगर फसल में माहू BPH लग भी जाती है तो यह कीड़े थी पाचन तंत्र को नष्ट कर देता है और साथ में इनके सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभाव डालता है जिससे कीड़ा खाना पीना बंद कर देता है अंततः कीड़े की मौत हो जाती है।

Dupont Pexalon की मांग सबसे ज्यादा क्यों

पिछले दो-तीन वर्षों से धान में माहू कीट नियंत्रण के लिए सबसे ज्यादा बिकने वाला दवाई में से एक Dupont Pexalon बन गया है क्योंकि किसानों का कहना है कि पेक्सालोन कीटनाशक एक बार डाल देने के बाद हमें फसल पकने तक brown plant hopper की चिंता नहीं रहती इसीलिए हर साल mahu के लिए पेक्सलॉन सबसे ज्यादा बिक रहा रहा है।

Corteva Agriscience अमेरिका की कंपनी है जो पिछले कई वर्षों से माहू कीट की दवाई बनाने का काम कर रही थी ।

इसके लिए कंपनी ने कई रिसर्च भी किए हैं जिसके चलते यह technical name मार्केट में आया है पेक्सालोन कीटनाशक भारत में 2018-19 में चालू हुआ है जो अभी तक हर साल सबसे ज्यादा बिकने वाला माहू की दवा में से एक है अब देखते हैं आगे चलकर Dupont Pexalon और कितने वर्षों तक मार्केट में जमा रहेगा।

Other Post:

Previous articleकेसर की खेती कैसे करें [तापमान, कीमत] | Kesar Ki Kheti Kaise Kare Hindi Saffron Farming
मैं हिमांशु साहू छत्तीसगढ़ राज्य मे दुर्ग जिले के एक छोटे से गाँव का रहने वाला हूँ, अपनी पढ़ाई की बात करूं तो मैंने BSc (Agriculture) की ग्रेजुएशन पंजाब से किया है। मेरा पहले से ही खेती और मशीनरी में शौक रहा है इसी कारण मैं खेती से संबंधित नई- नई जानकारी सीखते रहता हूं और इसी जानकारी को और अच्छे से इस वेबसाइट में बताने का प्रयास करता हूं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here