लेयर मुर्गी पालन की जानकारी [1000, 500 Birds, Design] | Layer Poultry Farming Hindi

0
1078
लेयर मुर्गी पालन की जानकारी, Murgi Farm | Layer Poultry Farming In Hindi

Layer Poultry Farming Hindi, 1000, 500 Birds, Cost, लेअर पोल्ट्री फार्म माहिती, डिजाइन  प्रोजेक्ट मॉडल, लेयर मुर्गी पालन की जानकारी, फार्मिंग, अंडों के लिए मुर्गी फार्म, egg अंडा Murgi Palan lear कुक्कुट broiler

आज के दौर में अंडे की डिमांड इतनी बढ़ गई है की अंडे की पूर्ति कर पाना मुश्किल भी हो गया है क्योंकि अंडे में हमें भरपूर प्रोटीन कैल्शियम और omega-3 मिल जाता है।

जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है ऐसे में लोगों के मन में लेयर पोल्ट्री फार्म के प्रति रुझान बढ़ रहा है क्योंकि लेअर मुर्गी पालन का मतलब यही होता है कि हम Murgi पालकर उससे अंडे निकाले।

एक कहावत आपने सुनी ही होगी “संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे” अभी हम Layer Murgi Palan के बारे में विस्तार से चर्चा करने वाले हैं कि कैसे हम Start कर सकते हैं क्या-क्या परेशानी हमको देखनी पड़ सकती है।

साथ मे इसका मुनाफा और सब्सिडी (Profit And Subsidy) कितना प्राप्त होगा इसके बारे मे स्टेप बाय स्टेप जानेंगे।

लेयर फार्मिंग की जानकारी (layer murgi farm ki jankari)

Business Of लेयर मुर्गी पालन | Layer Poultry Farming In Hindi

लेयर मुर्गी पालन क्या है (Layer Murgipalan kya hai)

किसान विरो Layer Poultry Farming कोई भी स्टार्ट कर सकता है इसके लिए आपको निश्चित जगह चाहिए होती है जिसमें आप मुर्गी पालन कर सकें तो लेयर फार्मिंग, सामान्य मुर्गी पालन से थोड़ा अलग है।

क्योंकि कई किसान वीर खुद Murgi Palan करके उसी में लेयर मुर्गी पालन करता है और कई किसान ऐसे होते हैं जो मुर्गी (बच्चा) दूसरे जगह से लेकर आता है।

वह बस अंडा निकालने का काम करता है तो यह 2 तरह से हो जाता है तो Lear Murgi Farm का मतलब यही होता है कि हम मुर्गी पालन के साथ उससे अंडा भी निकालें और मार्केट में बेचे।

एक तो यह होता है कि हम बस अंडा निकालने के लिए ही मुर्गी पालने का काम करेंगे और उसे मार्केट में बेचेंगे तो Layer Poultry Farming का सामान्य परिभाषा आप समझ गए होंगे।

जगह का चुनाव (Farming Place Select )

किसान वीरो Layer Murgipalan के लिए आपको बहुत ही सटीक जगह की जरूरत पड़ेगी क्योंकि यह एक ऐसा बिजनेस है जो गांव से बाहर रहे तो ही अच्छा रहता है।

ज्यादातर लोगों के बीच नहीं होना चाहिए और मेन रोड में होना चाहिए तो ही गाड़ी के आने जाने में परेशानी नहीं आएगी तो आप ऐसी जगह देखें जो थोड़ा शहर या गांव से दूर हो और एक दम मेन रोड में पड़े तो इस तरह से आपको जगह का चुनाव करना है।

चूजे की व्यवस्था (Manage Birds)

अब आती है चूहे की व्यवस्था क्योंकि यह लेअर पोल्ट्री फार्म का सबसे बड़ा महत्वपूर्ण तथ्य है क्योंकि कई किसान वीर सिर्फ Layer Poultry Farming ही करना चाहता है।

और कई किसान ऐसे होते हैं जो मुर्गी पालन कर रहे होते हैं और साथ में Layer Poultry Farming start करते हैं तो पहला बात करते हैं जो सिर्फ लेअर पोल्ट्री पालन करना चाहता है सिर्फ मुर्गी से अंडा बेचना चाहता है।

ऐसे किसानों को बाहर से चूजे (Murgi) लेकर आना पड़ेगा जो लगभग 4 महीने पुराना होता है मतलब 20 सप्ताह क्योंकि 20 सप्ताह बाद ही कोई चूजा अंडे देना प्रारंभ करती है।

अब जो मुर्गी पालन करते हैं वह किसान अगर start करता है तो उसको मात्र चूजा (बच्चा) लेकर आना है और उसको 4 महीने तक बड़ा होने देना है।

उसके बाद इसको मार्केट में ना बेच कर इसको leyar murgi Farm में शिफ्ट किया जाएगा इस तरह से चूजे की व्यवस्था होती है जो कि लगभग इस तरह से खर्च बैठेगी।

फार्म का खर्चRs. 2 Lakh To 2.5  Lakh
2000 Birds (बच्चे)Rs. 60,000 (एक Layer Birds की कीमत लगभग 30 से 35 रुपए )
20 सप्ताह तक चारे का खर्च1 Lakh से 1.5 Lakh
Other Cost50 हजार
 Total Cost5.5  Lakh से 6.5  Lakh (2000 Birds के साथ Business start करते है )

लेअर पोल्ट्री फार्म मुनाफा (Layer Poultry Farming Profit)

इस Business के अन्दर मुनाफे की बात करें तो 20 सप्ताह में मुर्गीया अंडा देना शुरू करती है जो की एक लेयर पैरेंट बर्ड एक साल में औसतन लगभग 300 से 315 अंडे देती है।

20 सप्ताह बाद मुर्गियां अंडा देना शुरू कर देती हैं और साल भर तक Egg Production करती हैं। 20 सप्ताह के बाद इनके खाने पर तकरीबन 3 से 4 लाख रुपए का खर्च आता है। ऐसे में 2000 मुर्गियों से 300 अंडे प्रति वर्ष के औसत से लगभग 6 लाख अंडे मिलते हैं।

इसमे मुनाफा 3.5 रुपए प्रति अंडा मिलता है भाव आप यदि साल में 6 lakh अंडे भी बेचते हैं तो मौजूदा समय में अंडे का भाव 3.5 रुपए प्रति अंडा है के हिसाब से आपकी साल भर में कमाई 21 लाख रुपए होगी।

इसमें से आप Layer Birds Buying Cost 60 हजार 20 सप्ताह तक भोजन 2 लाख रुपए और इसके बाद साल भर तक भोजन में आया खर्च 5 लाख रुपए निकाल दें तो कमाई 13.40 लाख रुपए बैठता है।

इसके बाद हम Infactucture And Labour Cost का खर्च लगभग 6.40 लाख रुपए और निकाल दें तो शुरू साल आपकी नेट मुनाफा 7 लाख रुपए होगी।

जबकि इन्फ्रास्ट्रक्चर पर एक ही बार खर्च करना है।

लेअर फार्मिंग परेशानी

किसान veero कोई भी बिजनेस (Business) हो या कोई भी काम इसमें मुनाफा भी होता है और नुकसान भी होता है और हमको कई सारी परेशानियां भी झेलना पड़ती है तो ऐसे में हम हम अगर layer poultry farming करते हैं तो 1 से 2 साल तक तो हमको बहुत परेशानी आती है.

क्योंकि हम अच्छे से देखरेख नहीं कर पाते और यू कहे तो हमें इतनी अच्छी जानकारी नहीं होती तो अगर धीरे-धीरे 1 साल निकल जाता है तो हमको पूरा अनुभव हो जाता है कि हम को कैसे मैनेज करना है।

क्योंकि फीट कॉस्ट आता है मुर्गियों को बीमारी भी हो जाती है तो ऐसे में दवाई टीका यह सब देख रेख करना पड़ता है जो कुछ दिन तक आपको परेशानी आती है अब कमाई की बात करते हैं क्योंकि आज का Competition बहुत है और अंडे का रेट फिक्स कभी नहीं रहता।

सामान्य मोटा मोटा बात करें तो हमको मुर्गी को रखने के लिए एक मुर्गी में 1 दिन का खर्चा लगभग ₹3 आता है जो कि इसमें लेबर कास्ट बिजली कास्ट जुड़ा हुआ है।

और एक मुर्गी (Murgi) साल भर में 300 से 320 अंडे देती है और अंडे का मार्केट रेट अभी 3 से 3.5 रुपया है तो आपने हिसाब लगा लिया होगा कि कई बार नुकसान भी झेलना पड़ता है।

जोकि 2018 का रेट बताऊ तो किसान एक अंडा में 1 से ₹1. 10 पैसा तक मुनाफा लेता था जो कि 2019- 20 में यह मुनाफा 40 से 50 पैसा ही रह गया तो ऐसे में मार्केट के ऊंच-नीच होने पर छोटे Layer poultry farming करने वाले किसानों को नुकसान झेलना पड़ता है।

वहीं अगर बड़ा काम होता है तो उसमें कई बार कवर हो जाता है इसको मैं समझाना चाहता हूं कि जैसे आपका फॉर्म छोटा है जो कि दिल्ली में है और दिल्ली में अंडे का रेट ₹3 है वहीं मुंबई में 3.5 से ₹4 तक है।

तो आपके पास अंडे बेचने के लिए मान लो 1000 अंडे है तो आपको दिल्ली में ही बेचना पड़ेगा क्योंकि आप मुंबई इतने कम अंडे के लिए गाड़ी नहीं भिजवा सकते तो यहां पर आपको नुकसान होता है।

वहीं अगर आप का फार्म बड़ा है और यही प्रोसेस होता है और आपके पास बेचने के लिए 15 से 20000 अंडे हैं तो आप आराम से मुंबई गाड़ी भिजवा सकते हैं तो यह फायदा होता है बड़ा फॉर्म होने का है तो आपको अच्छे से समझ आ ही गया होगा।

लेअर फार्मिंग परेशानी सब्सिडी (Poultry Farming Subsidy)

तो किसान वीरो आप अगर लेयर मुर्गी पालन करते हैं तो इसमें सरकार की तरफ से सब्सिडी भी दी जाती है जिसमें ₹1 लाख पर जनरल केटीगिरी को 25 परसेंट और वही एसटी एससी कैटेगरी को 35 परसेंट सब्सिडी 0% ब्याज दर का प्रावधान है।

जिसके लिए आपको NABARD और MAMSE से संपर्क करना होगा क्योंकि वही आपको अच्छे से जानकारी मिल सकती है।

महत्वपूर्ण तथ्य (Imortant Factor)

अब आते हैं Layer Murgi Palan की महत्वपूर्ण बात की तरफ

  1. अगर आप layer poultry farming कर रहे हैं तो खुद का मुर्गी हो तो अच्छा है क्योंकि आप बाहर से चूजे लाएंगे तो उसको देख रहे बहुत करना पड़ेगा और क्या पता उसका रखरखाव कैसा रहा होगा।
  2. तो आपको इसमें परेशानी आएगी और अगर आप ही उसको अंडे देने के लिए तैयार करते हैं तो आप अच्छे से उसका रखरखाव करेंगे जिससे बीमारी की शिकायत काम आएगी।
  3. अगर आप लेयर मुर्गी पालन करना चाहते हैं तो बड़ा प्रोजेक्ट में ही स्टार्ट करें छोटा farming स्टार्ट करने पर आपको नुकसान भी झेलना पड़ सकता है या फिर आपका कोई अंडे दुकान है उसके लिए लेयर मुर्गी पालन करते हैं तो उसमें उतना दिक्कत नहीं आएगी।
  4. लेअर पोल्ट्री फार्म में आपको खासतौर पर मुर्गियों की देखरेख बहुत जरूरी है आपको समय-समय पर टीका और दवाई करते रहना है।

तो दोस्तों यह रही हमारे द्वारा इकट्ठी की गई जानकारी तो आपको कैसी लगी जानकारीLayer Poultry Farming Hindi ” हमें कमेंट में जरूर बताएं और हो सके तो हमारे अगले तो के साथ जरूर शेयर करें इससे हमारा हौसला बढ़ता है जिसके चलते हम और अच्छा से अच्छा जानकारी आपके लिए लाने की कोशिश करते है।

आपका प्रेम पूर्वक धन्यवाद,

और पढे

Product Buy On Amazon

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here