सरकार मंडी सोसाएटी मे पूरी फसल क्यो नहीं लेता | Govt Mandi Bhav

0
625

Govt Mandi Bhav 2021, mandi me dhan ka ret, govt mandi bhav,

दुनिया कितनी भी आगे निकाल जाए और चाहे कितने ही Technology विकसित करे लेकिन अभी तक किसान की हालत वही है जो पहले हुआ करती थी। आज कई किसान अत्महत्या कर रहा आधा से ज्यादा किसान कर्ज मे डूबा हुआ है फिर भी न जाने सरकार किसानो को पीछे ही ढकेलती जा रही है।

सरकार द्वारा सोसाइटी मंडी में धान पूरा नहीं लेना किसानो की सबसे बड़ी परेशानी बन गयी है और इसी के कारण ही किसान परेशान और हताश हो गए है ।

इधर सरकार ने 1955 में बने कानून APMC में बदलाव किया है इसमे कुछ संसोधन हुआ है जिससे किसानो द्वारा कई जगह पर इस कानून में बदलाव को लेकर काफी हंगामा चल रहा कई किसान इसके पक्ष है तो कई किसान विरोध में।

लेकिन आज का मुद्दा है की आखिर सरकार मंडी में किसानो का पूरा धान क्यों नहीं लेती क्या कारण है की कोई सरकार 15 क्विंटल तो कोई सरकार 18 क्विंटल लेती है।

तो चलिए इसी के बारे में डिटेल में चर्चा करते है।

Govt Mandi Bhav 2021

  1. किसानो को फायदा

मंडी में फसल बिकने से किसानो को ये फायदा होता है की हमारी फसल की कीमत ना मिले तो कम से कम इतना कीमत में तो बिकेगा जो सरकार तय करती है इस हिसाब से किसान अपनी फसल को लेकर निश्चिन्त रहते है।

  1. मंडी में पूरी फसल ना बिकने का कारण

सरकार द्वारा किसानो की फसल का समर्थन मूल्य तय किया जाता है लेकिन मंडी में किसानो की पूरी फसल नहीं ली जाती इसके लिए सरकार एक एकड़ के हिसाब से फसल खरीददारी का लिमिट तय करता है जो की किसानो की उपज से बहुत कम बैठता है या लगभग आधे के बराबर।

इससे किसानो की बहुत सारी फसल बच जाती है तो

उसे वह कहाँ बेचे तो यहाँ पर किसान किसी बिचौलिए के पास या फिर किसी फैक्टरी या धान को सीधा बड़े बड़े मिलो में बेचता है। जहाँ पर उसे थोड़ा कम दाम मिलता है।

  1. बड़े बड़े मिल राईसमिल

राईसमिल एक ऐसा जगह है जहाँ रोज हजारो टन अनाज की जरुरत होती है ऐसे में कहा जाये तो पुरे फसल का आधा फसल तो यही खपत होता है ऐसे में अगर सरकार पूरी फसल खरीददता है तो राईसमिल वालो को पूरी फसल सरकारो से ही ख़रीदना होगा जो की उनको समर्थन मूल्य में लिए हुए फसल को ही खरीदना होगा। जो की थोडा और महंगा पड़ेगा।

इसके हिसाब से राईसमिल वालो को काफी नुकसान का सामना करना पड़ेगा क्योंकि जब सरकार पूरी फसल खरीदेगा तो किसान राईसमिल और बिचौलिए के पास फसल क्यों बेचेगा।

इसी के चलते राईसमिल वालो और सरकार की मिली भगत के कारण सरकार कभी भी किसानो की पूरी फसल लेती ही नहीं है।

क्योंकि यहाँ सरकार बड़े बड़े राईसमिल वालो से रिश्वत लेकर ये कदम उठाती है और किसान इधर परेशान होता रहता है।

बस यही कारण है लेकिन आपके पास भी कोई जानकारी है तो हमें जरूर बताये।

तो दोस्तों यह रही हमारे द्वारा इकट्ठी की गई जानकारी तो आपको कैसी लगी जानकारी ” Govt Mandi Bhav 2021″ हमें कमेंट में जरूर बताएं और हो सके तो हमारे अगले दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें इससे हमारा हौसला बढ़ता है जिसके चलते हम और अच्छा से अच्छा जानकारी आपके लिए लाने की कोशिश करते है।

आपका प्रेम पूर्वक धन्यवाद,

और पढे

Next articleबनारसी पान की खेती से अब नुकसान | Banarasi Paan Ki Kheti
मैं हिमांशु साहू छत्तीसगढ़ राज्य मे दुर्ग जिले के एक छोटे से गाँव का रहने वाला हूँ, अपनी पढ़ाई की बात करूं तो मैंने BSc (Agriculture) की ग्रेजुएशन पंजाब से किया है। मेरा पहले से ही खेती और मशीनरी में शौक रहा है इसी कारण मैं खेती से संबंधित नई- नई जानकारी सीखते रहता हूं और इसी जानकारी को और अच्छे से इस वेबसाइट में बताने का प्रयास करता हूं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here